मुख्यमंत्री ने विडियो कांफे्रन्स के जरिए दीया आवश्यक दिशा-निर्देश

0
2

PNN/ Faridabad: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुरुवार को बाढ़ नियंत्रण, सूखा तथा गर्मी बचाव के दृष्टिगत जिलों में किए गए आवश्यक एवं आपदा प्रबन्धों की सुनिश्चिता के लिए विडियो कांफे्रन्स के माध्यम से प्रदेश के सभी मंडलायुक्तो व उपायुक्तों तथा संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सभी उपायुक्त से उनके जिले किए प्रबंधों एवं तैयारियों की जानकारी भी ली।
उपायुक्त अतुल द्विवेदी ने विडियो कान्फ्रैस में बताया कि जिला में बाढ़ बचाव से संबंधित तीन कार्यों में से दो कार्य पूरे हो चुके हैं और एक पर काम चल रहा है, यह कार्य आगामी 25 जून तक पूरा कर दिया जाएगा। जिला में स्थित ड्रेनों की सफाई का कार्य चल रहा है और आगामी 25 जून तक यह सफाई का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। पेयजल शहरी क्षेत्र में एमसीएफ द्वारा पूरी व्यवस्था की गई है। ग्रामीण क्षेत्र के सभी जल घर और जोहङो को मरवाया गया है। इसके अलावा हीट-वेव की पूर्ण तैयारियां की हुई है अभी तक जिले में इससे संबंधित कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। पेयजल की सप्लाई सुचारू रूप से उपलब्ध करवाई जा रही है।
उपायुक्त ने इसके साथ ही बाढ़ नियंत्रण प्रबन्धों तथा हीट वेव को लेकर लघु सचिवालय में प्रशासनिक अधिकारियों एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक ली तथा उन द्वारा की गई तैयारियों की समीक्षा भी की। उपायुक्त ने विशेषकर कृषि, पशुपालन, सिंचाई विभाग, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग, दक्षिण हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के अधिकारियों से समीक्षा करके उन्हें दिशा निर्देश भी दिए।
एमसीएफ आयुक्त अनिता यादव ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को बताया कि कारपोरेशन में ड्रेनेज सम्बंधित 37 बड़े कामो में से 12 को पूरा कर दिया गया है। बाकी 26 पर कार्य प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि शहर में 39 डिस्पोजल कार्य कर रहे हैं जिन पर जेनरेटर सैट भी चालु है। उन्होंने आगे बताया कि शहर की 189 ड्रेनो में से 50 प्रतिशत सही है तथा बाकी के 95 करोड़ रुपये की नकद राशि का एस्टीमेट मुख्यालय भेजा गया है जिसमें 44 करोड़ रुपये की नकद राशि का एस्टीमेट पेयजल आपूर्ति से सम्बंधित है।
उन्होंने अधिकारियों से अब तक किए प्रबन्धों के बारे में जानकारी ली तथा किए गए कार्य योजनाओं का प्रगति विवरण देने तथा उन्हे समन्वय के साथ कार्य करने आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
फरीदाबाद मण्डल उपायुक्त डॉ जी अनुपमा ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को बताया कि फरीदाबाद शहर में मुख्य रूप से राष्ट्रीय राज मार्ग, बङखल चौक, एनएसपी चौक तथा बाटा चौक आदि क्षेत्रों स्वयं चैक करके जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पेयजल सुचारू रूप से बनाए रखने, एमसीएफ के अधिकारियों को शहरी क्षेत्रों में सीवरेज व निकासी नालियों तथा सडक़ पर बनी पानी निकासी की नालियों की सफाई के निर्देश दिए तथा निकासी ड्रेनों की भी सफाई सुनिश्चित रखने को कहा है।
उन्होंने बताया कि फरीदाबाद जिला में टाउन प्लानिंग, एमसीएफ, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण तथा पंचायती राज विभागों के अधिकारी का आपसी तालमेल बनाकर कार्य करेंगे ।
आयुक्त डॉ जी अनुपमा ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे सभी विभाग आपसी तालमेल बनाकर ग्रुप बनाकर विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि शहर बरसाती पानी की निकासी भी साथ-साथ होनी सुनिश्चित करें। विभागों के अधिकारी एक दूसरे पर आरोप प्रत्यरोप न लगाकर आपसी तालमेल बनाकर कार्य करें। उन्होंने मैट्रो स्टेशनों, रेवाङी रोड, बल्लभगढ़ बस स्टैंड, नहरपार आदि क्षेत्रों में पानी निकासी के पुख्ता प्रबंध आपसी तालमेल बनाकर करने निर्देश दिये। स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक औषधियों व चिकित्सीय सेवाएं दुरूस्त रखने। पशुपालन विभाग को भी बाढ़ के दौरान पशुओं के ईलाज के लिए पर्याप्त सुविधाएं सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए गए। कृषि विभाग के अधिकारियों को गत एक वर्ष में किए गए कार्यों का विवरण देने के भी निर्देश भी दिए।
जलभराव की स्थिति में निकासी के लिए पम्प सैटो व निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए गए। बाढ़ की परिस्थितियों में पर्याप्त एवं शुद्ध पेयजल उपलब्धता के लिए जनस्वास्थ्य विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।
विडियो कान्फ्रेंस में फरीदाबाद आयुक्त डॉ जी अनुपमा, उपायुक्त अतुल द्विवेदी, एमसीएफ कमिश्नर अनिता यादव, अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह, एसडीएम सतबीर मान, त्रिलोक चंद,ओ हुड्डा भारत भूषण गोगिया, डीआरओ डॉ नरेश कुमार, डीडीपीओ राकेश कुमार मोर सहित सभी विभागों अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here