PNN/ Faridabad: जिला स्तर पर आयोजित की जाने वाली राहगिरी के माध्यम से वर्ष भर समसामयिक व सामाजिक विषयों पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। राहगिरी में अधिकाधिक लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए और इसका सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार किया जाए। यह निर्देश मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी एवं एडीजीपी ओपी सिंह ने वीरवार को सभी जिलों के अधिकारियों के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान दिए। उन्होंने राहगिरी कार्यक्रम को और अधिक प्रभावशाली बनाने तथा इसमें आयोजित की जाने गतिविधियों की संख्या को बढ़ाने के संबंध में व्यापक दिशा-निर्देश दिए। 

एडीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि प्रत्येक राहगिरी को अच्छा संदेश देने वाले थीम पर आधारित किया जाए। इसके लिए उन्होंने  प्रत्येक जिला को महत्वपूर्ण दिवसों की सूची भी भेजी है। उन्होंने कहा कि थीम के विषय से संंबंधित विभाग को भी राहगिरी कार्यक्रम में जरूर शामिल किया जाए। एक दिसंबर को विश्व एड्स दिवस के अवसर पर राहगिरी कार्यक्रम में एड्स के प्रति जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएं और इसमें स्वास्थ्य विभाग का सक्रिय सहयोग लिया जाए. उन्होंने कहा कि राहगिरी कार्यक्रम में आर्ट एंड कल्चर गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जाए। इसमें प्रतिभागियों के लिए पेंटिंग प्रतियोगिता आदि का आयोजन करवाया जाए। राहगिरी में योग गतिविधियों को भी शामिल करने के संबंध में दिशा-निर्देश दिए। इसके साथ ही राहगिरी कार्यक्रम में शारीरिक गतिविधियों को बढ़ावा देने की भी हिदायतें दी गईं। 

एडीजीपी ने कहा कि राहगिरी कार्यक्रम की पूर्व सूचना व कार्यक्रम उपरांत के समाचार व फोटो आदि सोशल मीडिया पर प्रसारित किए जाएं ताकि राहगिरी का संदेश अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके। उन्होंने कहा कि फेसबुक, ट्वीटर व वट्सअप आदि के माध्यम से राहगिरी के फॉलोअर्स की संख्या को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समय हरियाणा में राहगिरी कार्यक्रम साकारात्मक दिशा में जा रहा है। इसमें प्रतियोगिता के साथ-साथ सहयोग की भावना को बढ़ाना भी जरूरी है। जब आपसी सहयोग से लक्ष्य प्राप्त करने की दिशा में प्रयास किए जाते हैं, तो नागरिक समाज के उपयोगी अंग बनते हैं। उन्होंने कहा कि समस्याओं के समाधान की प्रवृति जीवन में सफलताओं के द्वार खोलती है।

पुलिस व प्रशासन के सभी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी,  खिलाड़ी, विद्यार्थी, एनसीसी कैडेट व शहरवासी तथा नगर निगम व पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि,समाज सेवी और समाजिक विकास के कार्य करने वाली संस्थाओं के प्रतिनिधियो को राहगीरी में  भागीदारी बनाए। उन्होंने  प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों को राहगीरी के भव्य आयोजन की तैयारियों के बारे में समीक्षा की और सुझाव सांझे किए।

विडियो कान्फ्रेंस में फरीदाबाद के एसडीएम अमित कुमार ने  जिला में आगामी राहगीरी की तैयारियों  की जानकारी  मुख्यमंत्री के स्पेशल ऑफिसर को दी। उन्होंने बताया कि आगामी एक दिसंबर को स्थानीय बल्लभगढ़ के सैक्टर-2 राहगीरी का आयोजन किया जाएगा। 

 इसको लेकर एसडीएम ने  विभिन्न विभागों के अधिकारियों  की अलग-अलग कार्यों के लिए ड्यूटी अभी लगाई हैं। उन्होंने कहा कि राहगीरी के माध्यम से आम जनता में आपसी भाईचारे को बनाए रखने के बारे में अधिक से अधिक लोगों में जागरूकता  पहुंचाने के लिए बच्चे, बुढ्ढे और जवान, खिलाडियों व विद्यार्थियों का सहयोग लिया जाएगा। खेल विभाग व शिक्षा विभाग के अधिकारियों को विशेष दिशा-निर्देश दिए गए। पुलिस विभाग को राहगीरी बारे रूट पर वाहनों के आवागमन को डायवर्ट करने, नगर निगम के अधिकारियों को झंडे व पानी आदि की व्यवस्था करवाने, जनस्वास्थ्य अभियान्त्रिकी  विभाग को पानी के टैंकर उपलब्ध करवाने तथा स्वास्थ्य विभाग को एंबुलेंस व चिकित्सकों की ड्यूटी लगाने के निर्देश भी दिए गए। उन्होंने कहा कि राहगीरी में शामिल बच्चे अपने हाथों में स्लोगन लिखे व संदेश देते पोस्टर-बैनर लेकर आमजन को एकता का संदेश देंगे। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों की कमेटी का गठन किया गया है।

विडियो कान्फ्रेंस में, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, एसीपी महेंद्र वर्मा, सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।