PNN/ Ballabhgarh: बल्लमगढ़ स्थित नवजीवन कॉन्वेंट स्कूल में पेपर स्प्रे गैस की गैस से 10 बच्चे बेहोश हो गए. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई है. सभी प्रभावित बच्चों को फौरन स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. खबर लिखे जाने तक पुलिस अभी मामले की तफ्तीश कर रही है.

मिली जानकारी के अनुसार आठवीं कक्षा का एक छात्र अपने बैग में पेपर स्प्रे का बोतल घर से लाया था और उसके क्लास में स्प्रे करने से वहां मौजूद बच्चे उसके चपेट में आ गए. इतना ही नहीं स्प्रे से क्लास की एक अध्यापिका भी चपेट में है. सभी को आनन-फानन में अस्पताल में एडमिट करवाया गया.

आपको बता दें कि पेपर स्प्रे में मुख्य रूप से मिर्च से निकाला गया केप्सिसीन नामक तत्व काम में लिया जाता है.

इसे निकालने के लिए एथेनोल जैसे विलायक को प्रयोग में लाया जाता है। इसके बाद विलायक वाष्पीकृत हो जाता है और शेष बची हुई सामग्री को पेपर स्प्रे के रूप में लिया जाता है। पेपर स्प्रे तीव्र उत्तेजना वाला होता है। इससे आंखों में जलन होती है. साथ ही सांस लेने में दिक्कत, नाकों से पानी बहता है और खांसी आने लगती है. इसका असर लगभग 30 से 45 मिनट तक होता है। इससे होने वाले असर को पानी से दूर नहीं किया जा सकता.