PNN/ Faridabad: हरियाणा के मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव रंजन ने कहा कि प्रदेश में लोकसभा चुनाव-2019 को निष्पक्ष, स्वतंत्र एवं पारदर्शी तरीके से कराने के लिए चुनाव डयूटी में लगे सभी अधिकारी चुनाव आयोग की हिदायतों एवं निर्देशों के अनुसार कार्य करें। आयुक्त रंजन शनिवार को फरीदाबाद मंडल के अंतर्गत आने वाले जिला निर्वाचन अधिकारियों, सहायक निर्वाचन अधिकारियों व चुनावी प्रक्रिया में लगे अन्य अधिकारियों के साथ लघु सचिवालय में फरीदाबाद मंडल में चुनावी तैयारियों की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में फरीदाबाद के जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल द्विवेदी ने जिले में लोस चुनाव की तैयारियों की मौजूदा स्थिति पर विस्तृत रिपोर्ट भी प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि 31 जनवरी 2019 को मतदाता सूची का प्रकाशन किया गया था और उसके बाद राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियोंं से दावे-आपत्ति मांगे गए थे किंतु अभी तक किसी की ओर से भी कोई आपत्ति दर्ज नहीं की गई है।

इंकम टैक्स ने जारी किया टोल फ्री नंबर

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव रंजन ने बताया कि लोकसभा आम चुनाव में धनबल के प्रभाव को रोकने के लिए आयकर विभाग की ओर से टोल फ्री नंबर 18001804815 जारी किया है। चुनाव के दौरान कही भी ऐसा वित्तीय लेन-देन नजर आए जिससे कि चुनाव प्रक्रिया प्रभावित होती हो तो इस नंबर पर सूचित किया जा सकता है।
सीईओ राजीव रंजन ने टोल फ्री नंबर 1950 को डायल करके वोट सम्बन्धी जानकारी हासिल कर इस टोल फ्री नम्बर पर रिसीव हुई कॉल को भी चैक किया। उन्होंने टवीट्रर पर आई शिकायतों एवं रिप्लाई भी चैक किए। आयुक्त ने कहा कि सी-विजिल एप का पहली बार चुनाव में प्रयोग किया जा रहा है, इसके माध्यम से आमजन में से कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रत्याशी अथवा राजनैतिक दल द्वारा आचार संहिता की उल्लघंना करने या अन्य अनियमिताएं बरतने की फोटो अथवा वीडियो डाल सकता है। सीईओ ने स्पष्ट किया कि इस एप का प्रयोग केवल चुनाव प्रक्रिया से संबंधित शिकायतों के लिए ही किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस एप के माध्यम से आमजन को सशक्त किया गया है। फोटो व वीडियो के माध्यम से सी-विजिल पर मिलने वाली शिकायतों का निपटारा 100 मिनट की समयावधि में सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा किया जाएगा। इसमे लोकेशन का पता लग जाएगा। अगर शिकायतकर्ता स्वयं भी लोकेशन बता देगा तो और निपटान में और अधिक आसानी होगी। उन्होंने कहा इस एप के माध्यम से शिकायत के संदर्भ में मजबूत साक्ष्य भी तैयार होंगे जो प्रत्याशी के खिलाफ न्यायालय में प्रस्तुत किया जा सकेगा। इस बार चुनावों में तकनीकी का प्रयोग किया जाएगा, जिसके चलते प्रत्याशियों के लिए आदर्श आचार संहिता की उल्लघंना करना तथा चुनावी खर्चे को छिपाना कठिन होगा।
आयुक्त रंजन ने कहा कि केवल मतदाता पर्ची होना ही मतदाता होने का प्रमाण नहीं है, मतदान के लिए पहचान पत्र होना जरूरी है। विकल्प के तौर पर 11 तरह के पहचान पत्र मतदान के लिए मान्य किए गए हैं।
मुख्य चुनाव आयुक्त ने आह्वान किया कि फरीदाबाद मंडल में स्वीप गतिविधियां और तेजी से चलाई जाएं। उन्होंने मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए व्यापक रूप से काम करने के आदेश अधिकारियों को दिए तथा बीएलओज को उनके कार्य का निपटान भी समय पर करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा जिन पात्र व्यक्तियों के अभी तक वोट नहीं बने हैं वे अपना आवेदन डब्लयूडब्लयूडब्लयूडाटएनवीएसपीडाटईन(www.nvsp.in) पर आनलाईन कर लें। उन्होंने कहा लोगों को इस बारें में भी जागरूक किया जाए कि वे अपना नाम वोटर लिस्ट में चेक कर लें। मतदाताओंं को व्यापक तरीके से जागरूक करने के लिए प्रचार प्रसार करें। आयुक्त रंजन ने कहा कि इस बार लोकसभा आम चुनाव में ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि मतदान के पश्चात पोलिंग पार्टियों को सामान जमा करवाने के लिए देर तक लंबी-लंबी लाइनों में न खड़ा रहना पड़े बल्कि आते ही उनका सामान जमा करवाकर उन्हें जल्द फारिग किया जा सके।

मतदान केंद्रों पर सभी सुविधाएं सुनिश्चित करें

आयुक्त ने कहा कि मतदान केंद्रों पर निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित की गई प्रत्येक सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। सहायक रिटर्निंग अधिकारी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मतदान केंद्रों का दौरा करें और जिन मतदान केंद्रों पर किसी सुविधा की कमी है, उसे तुरंत पूरा करवाना सुनिश्चित करें। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी राजनैतिक दलों को चुनाव प्रचार में ऐसी सामग्री का प्रयोग करने के लिए कहा जाये जिससे पर्यावरण प्रदूषित न हो। चुनाव आयोग की हिदायतों के अनुरूप प्रचार के दौरान रात 10 बजे के बाद से सुबह 6 बजे तक लाऊड स्पीकरों का प्रयोग नहीं किया जाए। इस बार बूथ लेवल अधिकारी घर-घर जाकर मतदान से पांच दिन पहले वोटर स्लिप बांटना सुनिश्चित करें और वोटर स्लिप बांटने के बाद सम्बन्धित व्यक्ति के हस्ताक्षर भी लें।
बैठक में पलवल के डीसी मनीराम शर्मा व फरीदाबाद के डीसी अतुल द्विवेदी, एडीसी धर्मेंद्र सिंह, पलवल के एडीसी सुरेंद्र सिंह, फरीदाबाद के एसडीएम सतबीर मान, वत्सल विशिष्ट, त्रिलोक चंद, जितेंद्र कुमार, सीटीएम बेलीना, आशिमा सांगवानमंडल के अनेक अधिकारी मौजूद रहे।