PNN/ Lucknow: महानगर समाजवादी पार्टी के नेतृत्व में नागरिकता संशोधन बिल CAB के विरोध में प्रदर्शन किया गया। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को नागरिकता संशोधन विधेयक बिल का विरोध करते हुए बिल की प्रतियां तथा गृहमंत्री के पोस्टर जलाकर विरोध दर्ज कराया.

लोकसभा एवं राज्यसभा में पास हो चुके नागरिक संशोधन विधेयक बिल का विरोध करने के लिए शास्त्री चौक पर (डीएम गेट) के सामने समाजवादी पार्टी के नेताओं में पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ सपा नेता डॉ. मोहसिन खान, जियाउल इस्लाम, महानगर अध्यक्ष, सिंहासन यादव महानगर सचिव सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बिल की प्रतियां जलाकर विरोध किया।

इस दौरान विरोध करते हुए सपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल-2019 गैरकानूनी प्रवासियों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने के लिए है, लेकिन एक विशेष समुदाय को भारत की नागरिकता प्रदान नहीं की गई है।

पूर्व विधायक डॉ. मोहसिन खान ने कहा कि देश का संविधान सभी धर्मों, जातियों व संस्कृति की रक्षा करता है, लेकिन यह बिल असंवैधानिक और समानता के मूल अधिकार के खिलाफ है. डॉ. खान ने इसे संविधान विरोधी कानून और काला कानून बताया है. उन्होंने कहा कि देश संविधान से चलता है. कोई भी अमेंडमेंट होता है तो वह संविधान में भावनाओं को देखकर होता है, क्योंकि हमारा संविधान धर्मनिरपेक्ष है लेकिन भाजपा ने सिर्फ और सिर्फ संविधान की भावनाओं के खिलाफ यह काम किया है, इसलिए हम इस बिल का पुरजोर विरोध करते हैं.

हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच खाई बढ़ाने वाला बिल: मिर्जा कदीर वेग

वहीं सपा नेता मिर्जा कदीर वेग ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक (कैब) के पारित होने की निंदा करते हुए कहा कि इस प्रस्तावित कानून से सांप्रदायिक विभाजन बढ़ेगा. हम सरकार के उस एजेंडे के खिलाफ लड़ेंगे जो हमारे संविधान को व्यवस्थित ढंग से खत्म कर रहा है तथा उस बुनियाद को खोखला कर रहा है जिसपर हमारे देश की नींव पड़ी। मिर्जा बेग का कहना है कि देश का संविधान सभी धर्मों, जातियों व संस्कृति की रक्षा करता है, लेकिन बीजेपी इस बिल को लाकर देश के संविधान की धज्जियां उड़ाने का काम कर रही है। यह हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच खाई बढ़ाने वाला बिल है। इसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा। बेग ने यह भी आरोप लगाया कि केंद्र सरकार संविधान की मूल भावना से छेड़छाड़ करके वाजिब मुद्दों से ध्यान हटाना चाहती है।

दरअसल, पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के आह्वान पर जिला समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को गोरखपुर शहर के शास्त्री चौक पर नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां तथा गृहमंत्री के पोस्टर जलाकर विरोध दर्ज कराया। इस मौके पर जमकर सरकार विरोधी नारे लगाकर कार्यकर्ताओं ने नाराजगी व्यक्त की।

विरोध प्रदर्शन में प्रमुख रूप से अवधेश यादव, जफर अमीन डककू, यशपाल रावत, साधु यादव, श्यामदेव निषाद, रामनाथ यादव, राम जतन यादव, अशोक यादव, शकील अंसारी, पंकज शाही, संजय पहलवान, रामनगीना साहनी, अभिमन्यु यादव, राघवेंद्र तिवारी राजू, शहाब अंसारी, मनमोहन यादव, कीर्तिनिधि पांडेय, अमीरुद्दीन अंसारी, सोमनाथ यादव, मुन्नी लाल यादव, रामबचन यादव, बिंदा देवी, रुपावती बेलदार, अख्तर जहां, उर्मिला देवी, राहुल गुप्ता, सुरेंद्र निषाद, देवेंद्र निषाद, जय प्रकाश यादव, रमेश यादव, जितेंद्र यादव, मैना भाई, अखिलेश यादव, अशोक चौधरी, राजकुमारी देवी, नावेद मलिक, सुनील यादव, मोहम्मद अख्तर, अवधेश पांडेय पुजारी यादव, सोहराब खान, हीरालाल यादव, नमिता सिंह, उमाशंकर जायसवाल, विश्वजीत त्रिपाठी, आफताब आदि उपस्थित रहे.