PNN India: चीन में कोरोना वायरस (Corona Virus) काफी तेजी से फैल रहा है. इस वायरस का केंद्र वूहान (Wuhan) बताया जा रहा है. इस वजह से चीन की सरकार वूहान में 10 दिन के अंदर 2 नए हॉस्पिटल बनाकर तैयार कर दी है. इन अस्पतालों में कुल मरीजों की छमता 2,600 बेड की होगी. अस्पतालों को तैयार करने में 4000 से अधिक वर्कर दिन-रात लगे हुए हैं. साथ ही 100 हेवी मशीनों का इस्तेमाल कार्य को पूरा करने में तेजी दिखा रहे हैं.

25,000 वर्ग मीटर के क्षेत्र और 1,000 बेड तक की क्षमता वाले होशेंसन अस्पताल को तीन दिनों में उपयोग में लाने की उम्मीद है. जबकि लीशेंसन अस्पताल में 1,600 बेड तक की बड़ी क्षमता है और 75,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है। इसके बुधवार तक खुलने की उम्मीद है.

इस अस्पताल को बनाने का काम 23 जनवरी को शुरू किया गया था. सीजीटीएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 3 फरवरी तक अस्पताल के काम को पूरा कर लिया जाएगा और कोरोना वायरस से पीड़ितों के लिए इसे शुरू कर दिया जाएगा.

कोरोनावायरस के बढ़ते कहर से परेशान चीन इससे सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर के बाहरी इलाके में यह अस्पताल बनवा रहा है। अस्पताल बनाने का काम चाइना कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया है जिसने 2003 में सार्स वायरस से निपटने के लिए भी ऐसा ही अस्पताल 10 दिनों में बना दिया था.

वूहान में मौजूद सरकारी अधिकारियों के अनुसार, कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के लिए बनाए जा रहे इस अस्पताल का नाम ”होशेंसन अस्पताल” रखा गया है. एक स्थानीय अधिकारी ने कहा, ”इस अस्पताल का निर्माण सभी मानकों का सख्ती से पालन करते हुए किया जा रहा है”. 

आपको बता दें, कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 106 हो गई है. वहीं कोरोना वायरस के 4,500 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. चीन के अलावा कई अन्य देशों में भी कोरोनावायरस के मामले सामने आने लगे हैं. इनमें थाइलैंड में सात मामले, जापान में तीन, दक्षिण कोरिया में तीन, अमेरिका में तीन, वियतनाम में दो, सिंगापुर में चार, मलेशिया में तीन, नेपाल में एक, फ्रांस में तीन, ऑस्ट्रेलिया में चार और श्रीलंका में एक मामला सामने आया है.