टी.बी का मरीज 1वर्ष में 10-15 लोगों को करता है प्रभावित: डॉ शीला भगत

0
11

PNN/ Faridabad: जिला टी.बी एवं एचआईवी विभाग द्वारा लोगों को टी.बी बीमारी के बारे में जागरूक करने के लिए जिला अस्पताल (बी.के अस्पताल) में आज टी.बी जागरूकता अभियान आयोजित किया गया।
इस मौके पर संबंधित विभागीय अधिकारी व कर्मचारी जिला टीवी अधिकारी डॉ शीला भगत, टीवी एवं एचआईवी सुपरवाइजर सुभाष गहलोत, राजकुमार शर्मा, अशोक कुमार, जितेंद्र आदि ने लोगों को घातक बीमारी के बारे में जागरूक किया।
जिला टीवी अधिकारी डॉ शीला भगत ने उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि टी.बी की बीमारी हमारे समाज में बहुत तेजी से फैल रही है. यह बहुत ही घातक बीमारी है. यह एक संक्रमित बीमारी है जो हवा के माध्यम से फैलती है. डॉ शीला ने बताया कि एक टी.बी का मरीज एक वर्ष में लगभग 10 से 15 स्वस्थ लोगों में टी.बी फैला देता है. विभागीय टीम ने लोगों को टी.बी बीमारी से बचने के तरकीब बताये। उन्होंने टि.बी के लक्षण को बताते हुए कहा कि लंबी खांसी, वजन घटना, लंबा बुखार, रात को पसीना आना आदि टी.बी के लक्षण होते है. और जिस किसी की सेहत में कोई बदलाव आये या उक्त किसी भी लक्षणों के बारे में महसूस हो तो फौरन नजदीकी सरकारी अस्पताल में जाकर डॉक्टर को दिखाएं।
डॉ शीला भगत ने बताया कि टी.बी की दो जांच की जाती है. छाती का एक्स-रे और बलगम की जांच। नॉर्मल टीवी का ट्रीटमेंट 6 महीने चलता है. एमडीआर टी.बी का 9 महीने, प्री-एक्सडीआर या एक्सडीआर का 2 वर्ष इलाज चलता है. जिला टीबी अधिकारी ने बताया कि टी.बी के मरीजों को निःशुल्क दवा के साथ साथ मरीज को हर महीने ₹500 भी दिए जाते है।