PNN/ Faridabad: एनआईटी-2 स्थित, मॉडर्न दिल्ली पब्लिक स्कूल में बसंत पंचमी पर्व के अवसर पर सरस्वती पूजन किया गया. छात्र छात्राओं ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर मां सरस्वती का आशीर्वाद लिया। स्कूल में सरस्वती पूजन सहित विधि कार्यक्रम हुए.

विद्यालय के छोटे-छोटे बच्चे व अध्यापिका पीले रंग के परिधान पहने हुए नजर आये। विद्यालय के प्रांगण को पीले रंग की रचनात्मक कलाकृतियों से सजाया गया था। स्कूल के डायरेक्टर कमल गेरा व स्टाफ सदस्यों ने सरस्वती मां के चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्जवलित किया.

चेयरमैन कमल गेरा ने बसंत पंचमी की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बच्चों को बताया कि बसंत पंचमी का त्‍योहार खासकर उत्तर भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन से वसंत ऋतु की शुरुआत होती है। यूं तो भारत में छह ऋतुएं होती हैं लेकिन बसंत को ऋतुओं का राजा कहा जाता है। इस दौरान मौसम सुहाना हो जाता है और पेड़-पौधों में नए फल-फूल आने लगते हैं.

उन्होंने कहा कि खासकर किसानों के लिए इस त्‍योहार का विशेष महत्‍व होता है। बसंत पंचमी पर सरसों के खेत लहलहा उठते हैं। चना, जौ, ज्‍वार और गेहूं की बालियां खिलने लगती हैं। वसंत पंचमी के दिन विद्या की देवी सरस्‍वती का जन्‍म हुआ था इसलिए इस दिन मां सरस्‍वती को पूजा जाता है। इस दिन कई लोग प्रेम के देवता काम देव की पूजा भी करते हैं.