PNN/ Faridabad: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, फरीदाबाद के प्रतिनिधीयों ने महिला आयोग की सदस्य रेणु भाटिया से मिलकर ज्ञापन सौंपा. सैक्टर-16 राजकीय महिला महाविद्यालय से निलंबित योन शोषण के आरोपी प्रोफेसर सीएस विशिष्ट को उच्च शिक्षा निदेशालय द्वारा बहाल कर दिया है। आरोपी प्रोफेसर को बल्लबगढ़ स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में रिक्त पद पर नियुक्ति भी कर दिया गया है। राजकीय कन्या महाविद्यालय में हुए छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के मामले में दोषी प्रोफेसर को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कराने को लेकर ज्ञापन सौंपा।
प्रीति नागर ने बताया कि राजकीय कन्या महाविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर और 2- अन्य नॉन टीचिंग स्टाफ सदस्यों पर कॉलेज की ही एक बीएससी तृतीया वर्ष की छात्रा का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा था। एडमिशन के समय से ही इनका सिलसिला शुरू हो जाता। छात्रा ने आरोप लगाया था कि कॉलेज अध्यापक व नॉन टीचिंग स्टाफ एग्जाम में पास कराने की एवज में शारीरक शोषण करते थे। छात्रा ने अपनी शिकायत में कॉलेज की और भी छात्राओं के साथ भी यौन शोषण होने का जिक्र किया था। उपायुक्त महोदया एवं महिला आयोग की सदस्या से मिलकर आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने की माँग की थी। जिसके कारण आरोपी प्रोफेसर को तत्काल निलंबित कर दिया गया था, लेकिन दुबारा आरोपी प्रोफेसर को सैक्टर 2 महिला महाविद्यालय में रिक्त पदों पर नियुक्ति कर दिया गया है।
विद्यार्थी परिषद महिला आयोग सदस्य रेणु भाटिया के माध्यम से हरियाणा सरकार से अनुरोध किया है कि फैसला आने तक आरोपी प्रोफेसर की बहाली पर रोक लगाई जाए, अभी मामला कोर्ट में है।

इस दौरान राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य माधव रावत, जिला संयोजक राहुल राणा, मिडिया प्रमुख रवि पाण्डेय, कंचन डागर, उर्वशी, हरसिता, निकी, संजीव अत्री, पुनित चौधरी, साहिल राजपूत, राहुल, साहिल, आदि अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।