PNN/ Faridabad: फोर्टिस एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में भर्ती सेक्टर 23 निवासी सुरेश साहनी (30) की इलाज में आए खर्च को आखिरकार एस्कॉर्ट हॉस्पिटल के प्रबंधन को काफी हद तक कम करना पड़ा. जिसके बाद मरीज आज डिस्चार्ज होकर अपने घर गया.

दरअसल, पूर्वांचल एकता परिषद के अध्यक्ष एवं आप नेता राजकुमार और समाजसेवी संजीव कुशवाहा ने शनिवार को मीडिया कर्मियों के माध्यम से अस्पताल पर इलाज के नाम पर मोटा बिल बनाने का आरोप लगाया था. इतना ही नहीं अस्पताल प्रबंधन की तरफ से इलाज के बिल में कटौती ना किए जाने पर सामाजिक संगठनों के साथ इकट्ठा होकर अस्पताल के गेट पर प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी थी. लेकिन आज आप नेता राजकुमार, संजीव कुशवाहा, सचिन तंवर के अलावा विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों ने अस्पताल प्रबंधन से मुलाकात कर इलाज कि बिल को कम करवाकर, बचे हुए पैसे अस्पताल को जमा करा कर मरीज को वापस लाया गया.

इस दौरान राजकुमार ने मीडिया कर्मियों को बताया कि शहर में कई ऐसे नामचीन हॉस्पिटल है जो इलाज के नाम पर मरीजों से मोटी रकम वसूल रहे हैं, जो कि यह सरासर गलत है. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को गरीब जनता की परवाह करनी चाहिए, जिस तरह दिल्ली में सरकारी एवं प्राइवेट हॉस्पिटलों में लोगों की इलाज मुफ्त है, वैसा व्यवस्था यहां भी किया जाना चाहिए. अगर प्रदेश सरकार ऐसा नहीं कर पा रही है तो कम से कम किफायती दर पर लोगों का इलाज होना चाहिए.