PNN/ Faridabad: महज कुछ मिनट की बारिश ने विधानसभा-86 में विधायक नागेंद्र भड़ाना और क्षेत्र की पार्षद ममता चौधरी के द्वारा किये गए विकास कार्यों की पोल खोल कर रख दिया। इसका जीता जागता उदाहरण वार्ड-8 की जनता नर्सिंग होम वाली गली में देखने को मिला, जहां बारिश के बाद पूरी गली तालाब में तब्दील हो गई, जिससे लोगों के आवागमन बाधित तो हुआ ही, साथ ही स्कूल आने जाने वाले बच्चों को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बच्चों को गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ा। वहीं गली में पानी भरे होने के कारण लोगों को भी पुरे दिन घरों में कैद रहना पड़ा।

इस पर स्थानीय लोगों ने विधायक व पार्षद के विकास कार्यों पर नाराजगी जाहिर करते हुए कुछ इस तरह कहा।

स्थानीय लोगों ने विधयक को चेतावनी देते हुए कहा कि विकास की राह देखते देखते 4 वर्ष बीत गए और बचा वक्त को जैसे तैसे काट लेंगे पर आगामी चुनाव मौजूदा विधायक के लिए काफी महंगा पड़ेगा।

लोगों ने कहा कि 11 फरवरी 2018 को विधायक नागेंद्र भड़ाना ने वार्ड-8 की जनता नर्सिंग होम के आस पास की गलियों के विकास कार्य के लिए जनता के हाथों नारियल फुड़वा कर उद्धघाटन किया था। जिसमे वार्ड-8 की विद्या मेडिकल स्टोर से लेकर जनता नर्सिंग होम के आस पास की गलियों में सीवर लाइन व इंटरलॉकिंग के कार्यों को संम्पन किया जाना था। सीवर लाइन व इंटरलॉकिंग का कार्य केवल शुरू हुआ लेकिन समाप्ति की ओर अग्रसर न हो सका। लोगों ने कहा कि इंटरलॉकिंग व सीवर का कार्य केवल जनता नर्सिंग होम तक किया गया. इसके बाद कार्य अधूरा छोड़ दिया गया। जब भी लोग विधयक से अधूरे कार्य को पूरा करवाने के लिए सवाल करते हैं तो केवल आश्वाशन ही मिलता है।


लोगों ने विधायक से सवाल किया है कि आखिर इस तरह का भेदभाव इस गली की जनता के साथ क्यों किया जा रहा है? लोगों ने यह भी कहा कि इस गली में विकास कार्य कराने के लिए नारियल फोड़े तक़रीबन एक वर्ष बीत चूका आखिर वह दिन कब आएगा जब यहां कार्य शुरू होगा?

लोगों ने आरोप लगाया की विधायक 100 मीटर के दायरे में आने की बात कहकर बचते हैं. यदि सरकार इस गली में निर्माण कार्य करवाने में असमर्थ है, तो विधायक को अपने फंड से ये कार्य पूर्ण करवाना चाहिए।