PNN/ Faridabad: सेक्टर 7a में डॉक्टर परिवार  में घटित घटना जिसमें एक परिवार के चार सदस्यों को चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी का दोषी मृतक डॉ. प्रवीन मेहन्दीरत्ता के बेटे दर्पण का दोस्त, जिम ट्रेनर मुकेश निकला. इसकी खुलासा आज एसीपी क्राइम अनिल यादव ने प्रेस वार्ता कर किया.

एसपी क्राइम अनिल यादव ने बताया कि 9 नवंबर  को एक व्यक्ति ने एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर फरार हो गया था। जिसपर थाना सेक्टर-8 में मुकदमा नंबर 745 धारा 302, 34 आईपीसी एवं 25, 54, 59 आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किया गया था।

एसीपी क्राइम ने बताया कि मौके पर पहुंचकर क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने मौके से सभी साक्ष्य को बारीकी से एकत्रित कर जांच शुरू कर दी थी।

घर में लगी हुई सीसीटीवी फुटेज चेक की गई तो पाया कि एक ही व्यक्ति ने 4 लोगों की हत्या को अंजाम दिया है। जोकि ग्रे कलर की स्कूटी लेकर आया था और उसी से ही वारदात को अंजाम देकर फरार हो गया था।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने मृतक परिवार के आस पड़ोस में रहने वाले एवं उनके परिचितों से पूछताछ की।

पूछताछ में पता चला कि एक व्यक्ति जो कि जिम ट्रेनर है जिसका नाम मुकेश है और वह मृतक के बेटे दर्पण का दोस्त है और घर पर उसका आना-जाना है।

इसी आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने जिम ट्रेनर मुकेश के घर पूछताछ करने पहुंची तो मुकेश की पत्नी ने बताया की मुकेश एक लिखित में पत्र छोड़कर घर से चला गया है। जिसमें उसने लिखा हुआ है कि इन चारों लोगों की हत्या मैंने की है और अब मैं भी मरने के लिए जा रहा हूं।

एसीपी क्राइम अनिल ने बताया कि आरोपी की धरपकड़ के लिए क्राइम ब्रांच की 10 टीम लगाई गई है जिसको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि वारदात में प्रयोग की गई स्कूटी एवं उसकी चाबी भी बरामद कर ली गई है।

अनिल ने कहा कि आरोपी ने वारदात को किस लिए अंजाम दिया था यह आरोपी के गिरफ्तार होने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। पुलिस जांच में जुटी हुई है जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर वारदात के कारणों का खुलासा किया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी मुकेश वारदात को अंजाम देने के बाद मृतक का मोबाइल फोन लेकर चला गया था जिसको उसने अजरौंदा फेंक दिया था। जिसको भी बरामद कर लिया गया है।