PNN India: पंजाब के तरनतारन जिले में बाबा दीप सिंह जी के जन्मदिवस पर उनके पैतृक गांव पहुविंड के गुरुद्वारा साहिब से शनिवार को निकले नगर कीर्तन के दौरान पटाखों में विस्फोट से दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि 11 लोग घायल हो गए. हादसा नगर कीर्तन में पटाखों से भरी ट्राली में धमाका होने से हुआ. धमाका भारत-पाक सीमा से करीब 40 किलोमीटर दूर गांव पलासौर के पास पेट्रोल पंप से 400 गज की दूरी पर हुआ.

अमृतसर आईजी बॉर्डर रेंज सरिंदरपाल सिंह परमार के मुताबिक, हादसे में 2 लोगों की मौत हुई है। जबकि 11 जख्मी हुए हैं। हालांकि, इससे पहले तरन-तारन के एसएसपी ध्रुव दहिया ने चश्मदीदों के हवाले से बताया कि हादसे में 15 लोगों की जान गई है.

तरनतारन पाकिस्तान से सटा सीमांत जिला है। हालांकि, अभी धमाके की वजह का पता नहीं लग पाया है। धमाका इतना तेज था कि शवों के चीथड़े उड़ गए.

एसएसपी ने प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, बताए मौत के आंकड़े अमृतसर आईजी बॉर्डर रेंज सरिंदरपाल सिंह परमार ने कहा, अचानक हुए विस्फोट में 2 लोग मारे गए हैं और 11 जख्मी हुए हैं.

एसएसपी द्वारा दिए गए नंबर वहां पर मौजूद लोगों (प्रत्यक्षदर्शियों) के अनुसार थे.

तरन-तारन के एसएसपी ध्रुव दहिया ने बताया, नगर कीर्तन के दौरान ट्रोली में सवार युवा किसी विस्फोटक के साथ पटाखे चला रहे थे। तभी विस्फोटक में अपने आप धमाका हो गया। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार, ट्रोली में सवार 18-19 साल के 14-15 लड़के मर गए। 3 जख्मी लोगों को अस्पताल ले जाया गया है। 

मृतकों के परिजनों को पांच लाख का मुआवजा, न्यायिक जांच के आदेश

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आइजी बॉर्डर रेंज सुरिंदरपाल परमार से मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। खडूर साहिब के सांसद जसबीर सिंह डिंपा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों पांच लाख रुपये मुआवजा देने व सभी घायलों का मुफ्त इलाज करवाने का एलान किया। मुख्यमंत्री ने एसडीएम तरनतारन रजनीश अरोड़ा को न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं.