PNN India: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज वित्त वर्ष 2020-21 के लिए केंद्रीय बजट पेश कर दिया। वित्त मंत्री अपने बजट में गांव, गरीब और किसानों के लिए कई योजनाओं की घोषणा की है। साथ ही वित्त मंत्री ने नौकरीपेशा वालों को भी खुशखबरी दी है। ‘तेजस’ जैसी और ट्रेन देश में ही बनाने एवं चलाने की घोषणा की गई है। तेजस को प्रमुख पर्यटन स्थलों से जोड़ा जाएगा। ‘किसान रेल’ चलाई जाएगी। पीपीपी मॉडल के तहत 150 निजी यात्री ट्रेनें चलेंगी।

वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए कहा कि नई कर व्यवस्था वैकल्पिक होगी। करदाताओं को विकल्प दिया जाएगा कि वह चाहे तो छूट और कटौती के साथ पुरानी कर व्यवस्था में रहें  या फिर बिना छूट वाले नए कर ढांचे को अपनाएं। इसके तहत 2.5 लाख रुपये तक की आय कर मुक्त रहेगी। 2.5 से पांच लाख तक की आय पर पांच प्रतिशत की दर से कर लगेगा, लेकिन 12,500 रुपये की राहत बने रहने से इस सीमा तक की आय पर कोई कर नहीं लगेगा। 

बजट के बाद यह हुआ महंगा

फुटवेयर, फर्नीचर, सिगरेट, तंबाकू उत्पाद, स्टील, कॉपर, कुछ टॉयज, कुछ मोबाइल उपकरण

यह हुआ सस्ता

रॉ सुगर, स्किम्ड मिल्कसोया फाइबर, सोया प्रोटीन, कृषि-पशु आधारित उत्पाद, प्यूरीफाइड टेरिफैलिक एसिड (PTA), अखबार का कागज, कोट्ड पेपर