PNN/ Faridabad: कोरोना वायरस की महामारी से देश में जहां हाहाकार मचा हुआ है, सभी राज्यों को सख्त हिदायत दिया गया है कि अपने अपने शहरों, कस्बों और गांव में सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखें ताकि इस महामारी पर काबू पाया जा सके वहीं शासन-प्रशासन लोगों से अपील कर रही है कि इस विकट परिस्थिति में साथ दे और अपने अपने घरों में रहकर कोरोना वायरस को पनपने से रोकें, लेकिन कुछ ऐसे लोग भी हैं जिन्हें ना अपनी जान की परवाह हैं और ना ही दूसरों की. इतना ही नहीं शासन-प्रशासन को तो ठेंगा भी दिखा रहे हैं.

जरा इन तस्वीरों को देखिए… ये तस्वीरें फरीदाबाद के डबुआ-गाजीपुर रोड की है. इन्हें आज गाजीपुर निवासी सतीश नागर, प्रधान युवा विकास मंच ने साझा किया है.

प्रशासन लगातार लोगों से घरों में रहने की अपील कर रहा है, ना मानने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बात भी कही जा रही है, बावजूद इसके गाजीपुर के लोगों में थोड़ा सा भी खौफ नहीं है. बेपरवाह हुए यह लोग कोरोना वायरस को न्योता दे रहे हैं. लेकिन लोगों की यह हरकतें कहीं ना कहीं प्रशासन के ऊपर भी सवालिया निशान खड़ा कर रही है. अगर पूरे जिले को लॉक डॉन कर दिया गया है तो यह मार्केट कैसे खुला है, या फिर लोग सड़कों पर आवागमन कैसे कर पा रहे हैं, आखिर यह लोग कहां जा रहे हैं, क्या इनको पुलिस प्रशासन रोक नहीं रही है, या फिर इस जगह पर पुलिस का कोई पहरा नही है, जिससे यह लोग आजादी से घूम फिर रहे हैं.

अगर यह लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आए तो इसमें कोई दो राय नहीं है कि कोरोना वायरस को शहर में फैलने से कोई रोक पाएगा और इसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ेगा.