PNN/ Faridabad: 34वें अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड क्राफ्ट मेले में रविवार की शाम को मुख्य चौपाल में फैंशन शो के माध्यम से हिमाचल प्रदेश की परम्परागत पहनावे के अलग अलग रंगों को दर्शाया गया। मशहूर फैंशन डिजाइनर रितू बेरी की अगुवाई में 15 से अधिक मॉडल ने हिमाचल प्रदेश की प्राचीन व परम्पराग वेशभूषा का जलवा रैंप पर दिखाया। इससे पूर्व फैंशन शो में मुख्यअतिथि के रूप में शिमला के सांसद सुरेश कश्यप के शिरकत की तथा दीप प्रज्जवलित कर शो का शुभारंभ किया। इस दौरान हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची, पर्यटन निगम के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय वर्धन, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव अजय गौड़, पर्यटन निगम के निदेशक विकास यादव, सूरकुंड मेला के नोडल अधिकारी राजेश जून, एसीपी डा. अर्पित जैन सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

पर्यटकों से खचाखच भरी मुख्य चौपाल में मशहूर फैशन डिजाइनर रितू की निर्दशन में हिमाचल के विभिन्न क्षेत्रों की वेशभूषा का जलवा बिखेरा। पर्यटकों ने हर मॉडल द्वारा हिमाचली वेशभूषा के पदर्शन पर जोरदार तालियां बजाकर उनका स्वागत कर हौसला बढ़ाया। फैंशन शो के माध्यम से 15 मॉडल ने 40 से अधिक हिमाचल पहनावे की खूबसूरती का पदर्शन करते हुए हर किसी का मन मोहा। आधुनिकता की चकाचौंद में हिमाचल प्रदेश की परमपरागत पहनावे की रोशनी में चौपाल में मौजूद पर्यटकों ने खूब सराहा।

मुख्य अतिथि शिमला के सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि सूरजकुंड मेले में हिमाचल प्रदेश की प्राचीन सभ्यता व वेशभूषा का प्रदर्शन सराहनीय है। इसके लिए फैंशन शो की अगुवाई कर रही फैंशन डिजाइनर बधाई की पात्र है। उन्होंने कहा कि समय समय पर इस तरह के आयोजन के माध्यम से युवा पीढ़ी को सभ्यता से रूबरू करवाना चाहिए। हमारी परमपरा व सभयता हमारी पहचान है और इसे संजो कर रखना हम सब का दायित्व है। उन्होंने सूरजकुंड  मेले की मुख्य चौपाल पर हिमाचल प्रदेश की प्राचीन व परम्परागत वेशभूषा के प्रदर्शन पर रितू बेरी व मेला अधिरियों का आभार जताया।