PNN/ Faridabad: हस्तशिल्प का महाकुंभ सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में सोमवार को स्कूली बच्चों के नाम रहा। मेले में विभिन्न स्कूलों से आए बच्चों ने मेले में जमकर मस्ती की। इसी दौरान राज कान्वेंट स्कूल के बच्चों ने मेले में विभिन्न स्थानों पर बने सेल्फी प्वाइंट पर फोटो खिंचवाए, वहीं ढोल नगाड़ों की थाप पर जमकर नाचे। मेले में दोनों चौपालों पर कई प्रदेशों के सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

मेले में जगह-जगह पर बंचारी, बीन वादन, ढोल नगाड़ों की प्रस्तुतियों पर बच्चों ने कलाकारों के साथ जमकर थिरके। बच्चों ने मेला परिसर में सजाए गए हिरण, हाथी, पक्षियों आदि जानवरों की मूर्तियों के साथ फोटो खिंचवाये.

छोटी चौपाल पर जमकर हुई मस्ती

छोटी चौपाल पर स्कूली बच्चों और दर्शकों ने जमकर मस्ती की। एंकर जयभगवान कंबोज ने स्कूली बच्चों की भीड़ देखते हुए खासतौर पर छोटी-छोटी कहानियां सुनाकर नैतिक शिक्षा का पाठ पढ़ाया। वहीं महिलाओं ने म्यूजिकल चेयर में भाग लिया। राजस्थान, झारखंड और पंजाब के कलाकारों ने चौपाल पर सभी को झूमने पर मजबूर किया तथा बच्चों को अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया.

स्कूल की चेयरमैन राजेश कुमारी ने बताया कि आज कल हर पढ़ाई का मतलब केवल किताबें पढ़कर परीक्षा में अछे अंक लाने तक ही सीमित नहीं रह गया है बल्कि आज प्रैक्टिकल शिक्षा पर ज्यादा जोर दिया जाता है. इस मेला के माध्यम से बच्चों को कुछ कर के सीखने और कुछ देख के सीखने का मौका मिलता है.