PNN/ Faridabad: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की स्थानीय शाखा संजय एंक्लेव सेक्टर-51 फरीदाबाद की तरफ से शिवरात्रि के उपलक्ष में आध्यात्मिक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसका मुख्य आकर्षण शिव शंकर की चैतन्य झांकी थी. इसमें बहुत से भक्तजनों ने शिवरात्रि का महत्व को समझ अपने अंदर की बुराइयों को छोड़ने का संकल्प भी लिया.

इस आध्यात्मिक प्रदर्शनी का आरंभ पार्षद क्षेत्रीय महिंद्र सरपंच के द्वारा दीप प्रज्वलन एवं पूजन के साथ हुआ. प्रदर्शनी के माध्यम से लोगों को अपनी वास्तविक पहचान और परमात्मा की वास्तविक पहचान क्या है? परमात्मा इस धरती पर आकर हमसे कौन सी बुराइयां मांगते हैं, जिसका ही यादगार आक धतूरा चढ़ाया जाता है, इन सभी बातों की जानकारी सभी भक्तजनों को दी गई, और उनसे अपने अंदर के बुराइयों को छोड़ने, व्यसन मुक्त रहने के लिए संकल्प दिलाया गया.

प्रदर्शनी में चैतन्य झांकी के माध्यम से शिव और शंकर में अंतर बताया गया. शिवरात्रि क्यों मनाई जाती है, परमात्मा कौन सी रात में आकर हमारे अंदर ज्ञान का प्रकाश जलाते हैं, इन सभी जानकारियों को जन-जन तक पहुंचाया गया.

इस अवसर पर दुर्गा मंदिर के पुजारी साधु राम तथा गुरुद्वारे में सेवारत कप्तान भाई भी शामिल रहे साथ ही सेवा केंद्र की मुख्य संचालिका ब्रम्हाकुमारी ज्योति, शोभा, प्रतिभा एवं अन्य भाई बहन भी शामिल रहे.