PNN India: कोरोना वायरस के संक्रमण से स्पेन की राजकुमारी मारिया टेरेसा की मौत हो गई. वे 86 वर्ष की थीं. उनके भाई प्रिंस सिक्सटो एनरिके डी बॉरबोन ने एक फेसबुक पोस्ट में इसकी जानकारी दी. राजकुमारी की मौत 26 मार्च को हुई. नोवल कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद उनका इलाज चल रहा था. पूरी दुनिया में किसी रॉयल फैमिली से यह पहली मौत है. देश-दुनिया के कई लोग इस बीमारी की चपेट में आए हैं लेकिन मौत के मामले में स्पेन से यह बड़ी खबर सामने आई है. बता दें, यूरोपीय देशों में इटली के बाद स्पेन ही कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

राजकुमारी के भाई ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि कोरोना पॉजिटिव पाई गईं प्रिंसेस की मौत पेरिस में हो गई. शुक्रवार को मैड्रिड में उनका अंतिम संस्कार किया गया. प्रिंसेस का जन्म 1933 में पेरिस में हुआ था. उनकी पढ़ाई लिखाई फ्रांस में हुई थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक, वे पेरिस के सॉरबोने और मैड्रिड की कमप्लूटेंस यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थीं.

विदेशी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रिंसेस मारिया टेरेसा को रेड प्रिंसेस के नाम से भी जाना जाता था क्योंकि उनके विचार काफी बेलाग थे और सामाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती थीं. द सन के मुताबिक, प्रिंसेस के परिवार में और भी कई सदस्य हैं.

स्पेन में कोरोना वायरस से बड़ी तबाही मची है. इटली के बाद यहां सबसे ज्यादा मौत की खबर है. अब तक 3400 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. स्पेन और इटली ने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है जहां कोरोना वायरस सबसे पहले पनपा था. स्पेन की पार्लियामेंट ने यहां इमरजेंसी लगा दिया है जिसके अभी और बढ़ाए जाने की संभावना है.