PNN India: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में देश को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ देश की लड़ाई की चर्चा की. प्रधानमंत्री ने रमजान की मुबारकबाद देते हुए कहा कि पवित्र महीने के दौरान पहले से ज्यादा इबादत करें ताकि ईद से पहले ही कोरोना वायरस खत्म हो जाए.

पीएम ने यह भी कहा कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान लोगों का नजरिया बदला है. उन्होंने कहा कि डॉक्टर हों, सफाईकर्मी हों, अन्य सेवा करने वाले लोग हों. इतना ही नहीं, हमारी पुलिस व्यवस्था को लेकर भी आम लोगों की सोच में काफी बदलाव हुआ है.

पीएम ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान लोगों का नजरिया बदला है. डॉक्टर हों, सफाईकर्मी हों, अन्य सेवा करने वाले लोग हों-इतना ही नहीं, हमारी पुलिस व्यवस्था को लेकर भी आम लोगों की सोच में काफी बदलाव हुआ है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर मुश्किल हालात, हर लड़ाई, कुछ-न-कुछ सबक देती है, कुछ-न कुछ सिखा करके जाती है, सीख देती है. सब देशवासियों ने जो संकल्प शक्ति दिखाई है, उससे, भारत में एक नए बदलाव की शुरुआत भी हुई है. हमारे बिजनेस, हमारे दफ्तर, हमारे शिक्षण संस्थान, हमारे मेडिकल सेक्टर, हर कोई तेजी से नए तकनीकी बदलावों की तरफ बढ़ रहे हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पूरे देश में गली मोहल्लों में, जगह-जगह पर आज लोग एक दूसरे की सहायता के लिए आगे आए हैं. गरीबों के लिए खाने से लेकर राशन की व्यवस्था हो लॉकडाउन का पालन हो, अस्पतालों की व्यवस्था हो, मेडिकल इक्विपमेंट का देश में निर्माण हो-आज पूरा देश एक लक्ष्य, एक दिशा की ओर साथ-साथ चल रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई सही मायने में लोगों के द्वारा है. भारत में कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता लड़ रही है, आप लड़ रहे हैं, जनता के साथ मिलकर शासन, प्रशासन लड़ रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि आज पूरा देश, देश का हर नागरिक, जन-जन इस लड़ाई का सिपाही है और लड़ाई का नेतृत्व कर रहा है. आज पूरा देश, एक लक्ष्य, एक दिशा के साथ आगे बढ़ रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब देश एक टीम बन करके काम करता है, तब क्या कुछ होता है, ये हम अनुभव कर रहे हैं. आज केंद्र सरकार हो, राज्य सरकार हो, इनका हर विभाग और संस्थान राहत के लिए मिल-जुल करके पूरी रफ्तार में काम रहे हैं.

बता दें कि आज अप्रैल महीने का आखिरी रविवार है. ‘मन की बात’ कार्यक्रम हर महीने के आखिरी रविवार को ही प्रसारित होता है. इससे पहले पीएम ने 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसे बढ़ाकर तीन मई तक कर दिया गया. पीएम मोदी ने एहतियातन यह फैसला लिया, जिससे देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने में मदद मिले.