PNN India: कोरोनावायरस (कोविड-19) संकट जिसने पूरी दुनिया और देश को प्रभावित किया है, के मद्देनजर देश में (कोविड-19) महामारी से लड़ने के लिए, एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा 4.5 करोड रुपए की राशि निर्धारित की गई है. ए.के. सिंह अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक की अध्यक्षता में आज आयोजित एक बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया. निदेशक (परियोजनाएं) रतीश कुमार, निदेशक(कार्मिक) एन.के. जैन, निदेशक (वित्त) एम.के. मित्तल, निदेशक (तकनीकी) जनार्दन चौधरी और एनएचपीसी के पावर स्टेशनों, परियोजनाओं और क्षेत्रीय कार्यालयों के प्रमुखों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस बैठक में भाग लिया.
एनएचपीसी प्रबंधन ने कहा “संकट के इस समय में एनएचपीसी, राष्ट्र और भारत सरकार के साथ दृढ़ता से खड़ी है.
हम अपने पावर स्टेशनों/ परियोजनाओं के पास स्थानीय लोगों की भी हर संभव मदद करेंगे।” एनएचपीसी देश भर में दूर-दराज और दुर्गम क्षेत्रों में पावर स्टेशनों/ परियोजनाओं का संचालन करती है.
कोविड-19 से लड़ने के लिए एनएचपीसी पावर स्टेशनों/ परियोजनाओं के आसपास के लोगों की मदद करने के लिए प्रयासों के तहत विभिन्न गतिविधियों के लिए कुल 4.5 करोड़ रुपये (कार्मिकों) द्वारा 1.36 करोड़ रुपये योगदान सहित)  आवंटित/ परिकल्पित किए गए हैं.
सरकारी प्राधिकारियों के साथ प्रबंधन करते हुए, रियासी, जम्मू-कश्मीर में एनएचपीसी द्वारा संलग्न शौचालयों की सुविधा के साथ 40 बिस्तरों वाला, दुलहस्ती पावर स्टेशन, जिला किश्तवाड़, जम्मू व कश्मीर में 17 बिस्तरों वाला और उड़ी-I पावर स्टेशन, जिला बारामूला जम्मू व कश्मीर में संलग्न शौचालय और अपेक्षित सामान के साथ 10 बिस्तरों वाला क्वारंटीन केन्द्र विकसित किए गए हैं. एनएचपीसी के प्रत्येक स्थान पर कम से कम कुछ क्वारंटीन कमरे और बिस्तर विकसित करने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. एनएचपीसी अस्पतालों/ डिस्पेंसरी को, सभी को 24 घंटे ओपीडी सेवाएं प्रदान करने हेतु निर्देश दिए गए हैं.एनएचपीसी के कुछ स्थानों से सीएसआर-एसडी के तहत चावल, आटा, बिस्किट, साबुन, सैनिटाइजर, हैंड वॉश, दस्ताने, मास्क आदि वितरण 27 मार्च सेे शुरू हो चुका है.