PNN India: कोरोना वायरस की महामारी से जहां देश में भर में हाहाकार मची हुई है वहीं ऐसे समय में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने प्रदेशवासियों के लिए राहत भरी सहूलियतें मुहैया कराने की फैसला लिया है. बिहार में लॉकडाउन की स्थिति के दौरान लोगों को आर्थिक परेशानी न हो, इसके लिए सीएम नीतीश कुमार ने राशन कार्ड वाले परिवारों को एक महीने तक मुफ्त राशन देने की घोषणा की है. जिन इलाकों में लॉकडाउन है, वहां राशन कार्ड धारक परिवारों को 1,000 रुपये मिलेंगे। पेंशनर्स को 3 महीने की पेंशन एडवांस में दी जाएगी। इसके अलावा, कक्षा 1 से 12 तक के स्‍टूडेंट्स को 31 मार्च तक स्‍कॉलरशिप मिल जाएगी। सीएम नीतीश ने सोमवार को यह फैसले किए।

नीतीश कुमार के अनुसार राज्‍य के सभी डॉक्‍टर्स और मेडिकल स्‍टाफ को उनके एक महीने के बेसिक पे जितनी रकम एनकरेजमेंट के रूप में दी जाएगी। ये सभी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में लगातार मोर्चा संभाले हुए हैं।

दरअसल, कोरोना वायरस के चेन को तोड़ने के लिए 22 मार्च को नीतीश कुमार ने पूरे बिहार को डाउन करने की घोषणा की थी। जाहिर है लॉक डाउन से सबसे ज्यादा असर दिहाड़ी मजदूर और रोज कमाने खाने वाले गरीबों पर ही पड़ता। इसे देखते हुए CM नीतीश कुमार ने आज अपने आवास पर अधिकारियों के साथ बैठक की और महत्वपूर्ण फैसला लिया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉक डाउन के मद्देनजर गरीबो को सहायता पहुचाने का निर्णय लिया है। नीतीश कुमार ने सभी राशन कार्डधारी परिवारों को एक महीने का राशन मुफ्त में देने की घोषणा की है। साथ ही क्लास 1 से 12 के सभी छात्र छात्राओं की छात्रवृत्ति 30 मार्च तक DBT के माध्यम से खाते में डाल दी जाएगी।

इसके अलावे सभी प्रकार के पेंशन जैसे वृद्धा, दिव्यांग, विधवा पेंशन पाने वालों को अगले 3 महीने की पेंशन 31 मार्च से पहले DBT के माध्यम से उनके खाते में भेज दी जाएगी। अगले 3 माह के पेंशन की राशि उनके खाते में DBT के माध्यम से भेजी जाएगी।