PNN India: भारतीय सेना आम नागरिकों को भी सेना में शामिल होकर देश की सेवा करने का मौका देने पर विचार कर रही है। सेना देश के आम नागरिकों के लिए तीन साल की ‘टूअर ऑफ ड्यूटी’ के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। अगर प्रस्ताव मंजूर हो गया तो यह देश के इतिहास में एक बड़ा कदम होगा। न्यूज एजेंसी एएनआई ने बुधवार को सेना के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी।

सेना के एक प्रवक्ता ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि ऐसे प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है जिसके तहत आम नागरिकों को भी देश की सेवा के लिए सेना ज्वाइन कर तीन साल की टूअर ऑफ ड्यूटी का मौका मिल सकेगा। भारतीय सेना देश के प्रतिभाशाली युवाओं अपने साथ शामिल करना चाहती है।

इसके लिए सेना ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। अगर सबकुछ सही रहा तो जल्द ही इसका ऐलान किया जा सकता है। प्रस्ताव के तहत टूर ऑफ ड्यूटी के तहत चयनित होने वाले उम्मीदवार को तीन साल तक सेना में सर्विस करनी होगी। प्रस्ताव के बारे में अधिक जानकारी आना अभी बाकी है।

दूसरी तरफ, सेना अब अर्धसैनिक बलों यानी पैरामिलिट्री के जवानों को भी कुछ वक्त अपने साथ काम करने का अवसर देेने पर विचार कर रही है।

टैलेंटेड युवाओं को आकर्षित करने का प्लान

एएनआई के मुताबिक, सेना के प्रवक्ता ने इस प्रस्ताव की पुष्टि की है। इस योजना के तहत सेना देश के प्रतिभाशाली युवाओं को आकर्षित करना चाहती है। इस योजना के जरिए वे युवा भी सेना में शामिल हो सकेंगे, जो किसी कारण पहले ज्वाइन नहीं कर पाए थे। भारतीय सेना में अभी अच्छे अधिकारियों की काफी कमी है। सेना इस योजना के तहत इस कमी को पूरा करना चाहती है।

एसएससी के जरिए सबसे कम 10 साल तक के लिए होती है भर्ती
मौजूदा समय शार्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) के जरिए सबसे कम 10 साल के लिए युवाओं को सेना में भर्ती होने का मौका दिया जाता है। पहले इसके जरिए भर्ती होने वाले युवाओं का कार्यकाल 5 साल के लिए होता था, जिसे बाद में 10 साल कर दिया गया।

अर्धसैनिक बलों के जवान भी जॉइन कर सकेंगे आर्मी

सेना इस बात पर भी विचार कर रही है कि अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी कुछ समय के लिए सेना में काम करने का मौका दिया जाए। सेना के एक सूत्र ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि भारतीय सेना ‘इनवर्स इंडक्शन मॉडल’ नाम के एक प्रस्ताव पर विचार कर रही है, जिसके तहत केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवानों को सेना में कुछ समय के लिए काम करने का मौका दिया जा सकता है।