PNN/ Faridabad: विकास चैधरी हत्याकांड में आरोपियों की लगातार धरपकड़ में पुलिस ने 7 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जिसकी खुलास पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने आज मीडिया कर्मियों से प्रेस वार्ता में किया। पुलिस आयुक्त ने बताया कि क्राईम ब्रांच सै0-30 प्रभारी निरीक्षक विमल की टीम मैंम्बर एसआई अमर सिंह और एएसआई दीपक व अन्य स्टाफ सहित मुखबर की सूचना पर नाकाबंदी करके तिगांव रोड पर सौरभ व अतुल निवासी फरीदपुर को घेराबंदी करके हथियारो सहित गिरफतार किया गया। वही क्राईम ब्रांच डीएलएफ प्रभारी संजीव की टीम द्वारा 5 आरोपियों नवीन, अमरदीप, सूरज, धर्मजीत और सुनील को ऐसेंट कार सहित सूरजकुण्ड एरिया से गिरफतार किया गया।

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान, धर्मजीत उर्फ काला, पुत्र मुखत्यार सिंह निवासी गांव कबूलपूर थाना शिवाजी कालौनी जिला रोहतक, हाल किरायेदार हनुमान नगर श्रीराम फोटो वाली गली, पुरानी सब्जी मन्डी थाना शहर सोनीपत जिला सोनीपत। नवीन उर्फ लाम्बा पुत्र मुखत्यार सिंह, निवासी गांव कबूलपूर थाना शिवाजी कालौनी, जिला रोहतक हाल गांव जटवाडा खिरदर मुकबरा के पास थाना शहर सोनीपत जिला सोनीपत। अमरदीप उर्फ हन्नी पुत्र, रामफल सन्धु निवासी गांव गघसीना थाना घरौंडा जिला करनाल हाल गली न0 6 ऋषि कालोनी सब्जी मंडी थाना शहर सोनीपत, जिला सोनीपत। सुनिल उर्फ मोनू, पुत्र जगवीर सिंह निवासी गांव मालवास कुहाड थाना सदर भिवानी जिला, भिवानी हाल किरायेदार शिव बिल्डींग मैटीरियल स्टोर सुनारिया गोल चक्कर रोहतक। सूरज पुत्र कृष्ण सिंह निवासी गांव न्यौला थाना कौसली जिला झज्जर हाल जटवाडा, सात पाना थाना शहर बहादुरगढ जिला झज्जर को गिरफतार किया गया है। सौरभ निवासी फरीदपुर। अतुल निवासी फरीदपुर।

आयुक्त ने बताया कि सौरभ से एक पिस्टल व चार कारतूस बरामद किया गया है व अतुल से एक देशी कटटा व 2 जिंदा कारतूस बरामद किए है। जिनके खिलाफ थाना तिंगाव में आर्मस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी सौरभ और अतुल ने पूछताछ में बताया कि उनके खिलाफ लुट इत्यादि के मुकदमें पहले भी दर्ज है।

गिरफतार आरोपियों में से सौरभ ने पूछताछ पर बताया कि सचिन के कहने पर मैने व अतुल ने विकास चैधरी को मारने के लिए उसके घर व जिम की रैकी की थी।

दिनांक 27.06.19. को योजना के अनुसार हम सभी विकास की हत्या करने के लिए सै0 9 में स्विफट गाडी व एसएक्स-4 गाडी सहित जिम पर पहुंचे। एसएक्स-4 में सवार 5 लडके जो जिम पर जाकर खडे हो गये थे और जैसे ही विकास चैधरी वहां पर पंहुचा तो 2 आरोपियों ने गाडी से उतरकर विकास पर फायरिंग करके उसी गाडी से फरार हो गये थें एसएक्स- 4 को सचिन चला रहा था।

आरेापी सौरभ ने बताया कि मै, अतुल और सुनील घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूर स्विफट गाडी में हथियारो सहित अपने साथियों को बेैकअप देने के लिए तैयार खडें थे। वारदात को अंजाम देने के बाद एसएक्स-4 गाडी को सै0 76 बीपीटीपी में छोडकर अपनी ऐसेंट व स्विफट कार से भाग गऐ थे। नवीन उर्फ लंबू, धर्मजीत उर्फ काला व सूरज ने वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को शरण दी व अन्य जरुरी साधन उपलब्ध कराऐ व तीनों आरेापी नवीन, धर्मजीत और सूरज प्लानिंग में भी शामिल थे।
पुलिस आयुक्त ने प्रैस वार्ता के दौरान बताया कि वारदात को अंजाम देने के दौरान मौका पर हाजिर रहने वाले 4 आरोपी अतुल, सैारभ, सुनील और अमरदीप उर्फ हन्नी को गिरफतार किया गया है। उन्होंने बताया कि शरण देने वाले 3 आरोपी नवीन, धर्मजीत और सूरज को भी गिरफतार कर लिया गया है। आरोपी धर्मजीत उर्फ काला पर पहले भी हत्या व लडाई झगडे के मुकदमें दर्ज है। आरोपी नवीन उर्फ लाम्बा पर आर्म्स एक्ट का मुकदमा दर्ज है। आरोपी सुनील पर भी लडाई- झगडे के मुकदमेें दर्ज है। उपरोक्त सभी आरोपियों को आज गिरफतार किया गया है। पुलिस रिमाण्ड लेकर आगे की पूछताछ की जाऐगी। उन्होंने बताया कि अन्य आरोपियों की गिरफतारी के प्रयास तेजी से जारी हैं। जिनको जल्द से जल्द गिरफतार कर लिया जाऐगा।