PNN/ Faridabad: कांग्रेसी उम्मीदवार विजय प्रताप सिंह ने सोमवार को एसजीएम नगर 22 फुट रोड, ए ब्लॉक, ई ब्लॉक, मेवला महाराजपुर, आदर्श कॉलोनी, सीए एसोसिएशन, एनआईटी-3, एन.एच.5 एम ब्लॉक, दयाल नगर, कल्याणपुरी, ध्रुव डेरा, गांव बड़खल, सैक्टर-48 में आयोजित सभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि झूठे वायदे नहीं काम करने आया हूं और वायदा करता हूं कि अगली बार जब आप लोगों के बीच आऊंगा तो अपने काम के आधार पर वोट मांगूंगा न कि स्थानीय विधायिका की तरह, जो अपने मोदी और मनोहर के नाम पर वोट मांग रही हैं। वो ऐसा, इसलिए कि उन्होंने पूरे 5 साल कुछ नहीं किया तो वोट कैसे मांगें।

सभी जगह मिल रहे भारी प्यार और स्नेह से गदगद विजय प्रताप ने भगवान से प्रार्थना की कि जो प्यार और सम्मान लोगों का उन्हें मिल रहा है, उसे उन्हें संभालने की ताकत दे। उन्होंने भाजपा के दावों की पोल खोलते हुए कहा कि विधायिका जो बड़खल झील को भरने की बात कर रही हैं, पहले लोगों को पानी की आपूर्ति कराएं। कांग्रेस ने रैनीवेल परियोजना लाकर शहर के लोगों को पानी उपलब्ध कराने का काम कराया। मगर भाजपा के पास न तो कोई रणनीति है और न ही अधिकारी उनकी सुनते हैं। इसलिए वो हर मोर्चे पर फेल हो रहे हैं, जनता को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने में। कांग्रेसी उम्मीदवार ने कहा कि भाजपा विधायिका ने लोगों के काम तो किए नहीं, उल्टा जो उनके पास गया उनका निरदार किया गया, लोगों को जेल भेजा गया। इतना उदासीन विधायक उन्होंने आज तक अपने जीवन में कहीं नहीं देखा। एसजीएम नगर की पूरी तरह अनदेखी की गई।
पूर्व मंत्री महेन्द्र प्रताप सिंह ने अपने कार्यकाल में 116 ट्यूबवैल एसजीएम नगर में लगवाए, मगर आज अधिकतर ट्यूबवैल पानी न होने की वजह से बंद पड़े हैं। जब जमीन में पानी ही नहीं है, तो ट्यूबवैल कहां से चलेंगे। इसलिए एसजीएम नगर के लिए हमारे पास योजना है, विजन है। यहां के लोगों को पानी की पूर्ति के बूस्टर और कम से कम दो बड़ी टंकियां चाहिएं, तभी जाकर लोगों को पानी मिल पाएगा। भाजपा कार्यकाल में रिहायशी क्षेत्रों में खोले गए शराब के ठेकों एवं आहातों पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि सबसे पहले सत्ता में आने पर इन ठेकों को बंद कराऊंगा। हमारी बहनें महीनों धरने पर बैठी रही, ठेकों को बंद कराने के लिए मगर न तो विधायिका न ही किसी अन्य जनप्रतिनिधि के कान पर जूं तक रेंगी। कांग्रेस में ऐसा कभी नहीं हुआ कि ठेकों को बंद कराने के लिए लोगों को सड़कों पर उतरना पड़े।

विजय प्रताप सिंह ने आयोजित सभाओं में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए यह विश्वास दिलाया कि हाथ का बटन दबाने के बाद उनकी समस्याओं का निराकरण होना तय है और इस बात का प्रमाण उनको पूर्व मंत्री चौ. महेन्द्र प्रताप सिंह के कार्यकाल में देखने को मिला। उन्होंने कहा कि अपने पिताश्री द्वारा शुरू किए विकास के कामों को पूरा करना ही मेरा ध्येय है और आप लोगों के आशीर्वाद से वह इस काम को निश्चित तौर पर कर पाएंगे।
इस मौके पर भाजपा के दिग्गज नेता रहे राजकुमार गौड ने कहा कि इतने पुराने कार्यकर्ता होने के बावजूद उनको स्थानीय विधायिका द्वारा मान-सम्मान नहीं दिया गया और पूरी तरह अनदेखी की गई। उनमें अहंकार भरा हुआ है और वो लोगों का तिरस्कार तक करने से नहीं चुकते। इसलिए वो मोदी-मनोहर के नाम पर वोट मांग रही हैं क्योंकि वह जानती हैं कि लोग उन्हें पसंद नहीं करते।

इस अवसर पर सभा में प्रवीण भाटी, ओ पी गौड, जयपाल चंदीला, विजयपाल चंदीला, धर्मबीर भड़ाना, शलेश चंद केन, जंगलिया मंगलिया, सुरेन्द्र दुग्गल, भारभूषण भारती, विनोद कौशिक, देव सिंह गुंसाई, विजय गुर्जर, अवधेश कुमार, राकेश पंडित, चिरंजीलाल प्रधान, सुरेन्द्र कुमार, विक्रम आदि ने सम्बोधित किया।